BESTSELLERS PRODUCT

Monday, June 26, 2017

तु जो रो दी गले से लग के


तु जो रो दी गले से लग के ,
सारी कायनात रो दी उस पल से, 
बिजली कड़की इतनी जोर से,
की बादल भी रो पड़े इस पे,  
हवा ने इस कदर रुख बदला,
पेड़ हजारो सो गए जमी पे !!

तू जो रो दी गले से लग के ,
भूचाल आ गया पुरे समंदर में,  
हो गया आपात रोक पुरे वर्ड में, 
जैसे रुक गई पूरी दुनिया,  
आँसुओ की धरा बहने से !!


                                                                 
                                                                   न रोना कभी तू ओ मेरी महबूबा, 
                                                                  मै हु तो तेरे साथ तेरे हिस्से का रोने के लिए, 
                                                                  ये जालिम है जवाना नहीं समझे गा  प्यार को, 
                                                                  लेकिन तू न रोना !!


                                                                  तू न रोना ओ मेरी मेहबूबा !
                                                                  मै हु तेरे हिस्से का रोने के लिए !! 


Name पे Click करे -

Facebook - Bindass Post Page like करे 
Twitter-      @gauravbaba93 Follow करे


No comments:

Post a Comment

आप अपने सुझाव हमें जरुर दे ....
आप के हर सुझाव का हम दिल से स्वागत करते है !!!!!